वाहन बीमा में

नो क्लैम बोनस (NCB)

क्या होता है?

यदि कोई बीमाधारक बीमा कंपनी से कोई पॉलिसी लेता है, और उस पॉलिसी अवधि के दौरान कोई क्लेम नहीं करता है तो उसे नो क्लैम बोनस (NCB) के रूप में ईनाम दिया जाता है।

नो क्लेम बोनस बीमाधारक की प्रीमियम को कुछ हद तक कम करने में मदद करता है। हर साल यदि बीमाधारक इंश्योरेंस कंपनी से कोई क्लेम नहीं करते हो तो NCB के रूप में रिवॉर्ड मिलता है।

लेकिन बीमाधारक इस ईनाम का उपयोग नहीं करता है तो यह हर क्लेम फ्री वर्ष के साथ बढ़ता रहता है। आइये जानते है

माना की आपने अगस्त 2020 में अपने वाहन का बीमा करवाया है। और आप अपना वाहन सुरक्षित रूप से चलाते हो। तथा आपकी पॉलिसी की अवधि के दौरान आपकी कोई दुर्घटना नहीं होती है।

इसके बाद जब आप अगस्त 2021 में बीमा रिन्यू करवाने जायेंगे तो आपको कम पैसा देना पड़ेगा। आपकी प्रीमियम में इसी छूट को नो क्लेम बोनस कहा जाता है।

यदि आप एक समझदार और अच्छे ड्राइवर हो तथा आपने अपना वाहन सुरक्षित रखा है। इसके बाद आप पालिसी अवधि के दौरान एक भी बार क्लेम नहीं करते हो तो आपको रिवॉर्ड के रूप में नो क्लेम बोनस दिया जाता है।

नो क्लेम बोनस आपकी प्रीमियम को कम करने में मदद करता है। हर एक क्लेम फ्री साल में नो क्लेम बोनस बढ़ता रहता है। यहं 20 प्रतिशत से लेकर 50 प्रतिशत तक बढ़ता है।

यदि किसी व्यक्ति ने नया वाहन ख़रीदा है और वह अपनी NCB को नये वाहन पर ट्रांसफर किया जा सकता है। तथा NCB को एक कंपनी से दूसरी बीमा कंपनी में ट्रांसफर किया जा सकता है।

वाहन बीमा में नो क्लैम बोनस (NCB) के बारे में और जाने?

start READING