व्यक्तिगत स्वास्थ्य बीमा क्या है? | what is individual health insurance in hindi

इस कोरोना महामारी के बीच लोगों को इस बात का अहसास हो गया है की हमे खुद को सुरक्षित रखना कितना जरूरी है। और खुद को आर्थिक रूप से सुरक्षित रखना कितना जरूरी है। इसलिए कई लोग स्वास्थ्य बीमा खरीदने पर फोकस कर रहे है।

आइए जानते है व्यक्तिगत स्वास्थ्य बीमा क्या होता है? कैसे काम करता है? और इसके क्या क्या फायदे है?

व्यक्तिगत स्वास्थ्य बीमा क्या है? (what is individual health insurance in hindi)

व्यक्तिगत स्वास्थ्य बीमा, एक इंश्योरेंस प्रोवाइडर और बीमाधारक के बीच एक अनुबंध होता है। इस अनुबंध में आपके द्वारा की गई निवेश के अनुसार बीमा कम्पनी आपको हॉस्पिटल खर्च का भुगतान करती है।

यह व्यक्तिगत स्वास्थ्य बीमा है, जिसमें किसी व्यक्ति को व्यक्तिगत बीमा राशि के अनुसार हॉस्पिटल खर्च का भुगतान किया जाता है। यह बीमा परिवार के सभी सदस्यों के लिए नहीं होता है बल्कि यह सिर्फ एक व्यक्ति के लिए होता है। इसे हर व्यक्ति के लिए अलग अलग खरीदना होता है।

ज्यादातर व्यक्तिगत स्वास्थ्य बीमा में किसी भी व्यक्ति को हॉस्पिटल में भर्ती होने का खर्च, वेकल्पिक उपचार, एंबुलेंस सेवा, डे केयर उपचार, अंग डोनर खर्च आदि के लिए कवरेज प्रदान किया जाता है।

व्यक्तिगत स्वास्थ्य बीमा में क्या-क्या कवर किया जाता है?

  • व्यक्तिगत स्वास्थ्य बीमा में कोराना के इलाज में होने वाले खर्च को कवर किया जाता हैं।
  • हॉस्पिटल में एडमिट होने से पहले और एडमिट होने के बाद होने वाले खर्च को कवर किया जाता है।
  • कोई व्यक्ति 24 घंटे से ज्यादा समय तक हॉस्पिटल में भर्ती रहने पर उसके होने वाले मेडिकल खर्च को कवर किया जाता है। इसमें कमरा किराया, ICU खर्च, और दवाइयों का खर्च आदि शामिल है।
  • यह बीमा कोराना के इलाज में होने वाले खर्च को कवर करता है।
  • यह बीमा डॉक्टर की सिफारिश पर घर पर इलाज करने का भुगतान करता है।
  • यह आयुर्वेद, होम्योपैथि, योग आदि वैकल्पिक माध्यम से किए गए इलाज को भी करता है।
  • यदि कोई व्यक्ति 24 घंटे से कम समय तक हॉस्पिटल में भर्ती रहता है तो इसमें डे केयर प्रक्रियाओं में खर्च लाभ उठाने की लागत शामिल है।
  • यह किसी इमरजेंसी की स्थिति में सड़क एंबुलेंस सेवाओं का खर्च कवर किया जाता है।
  • यदि आपको अंग प्रत्यारोपण की जरूरत है तो यह एक डोनर से किसी विशेष अंग की कटाई में होने वाला खर्च कवर किया जाता है।

व्यक्तिगत स्वास्थ्य बीमा में क्या क्या कवर नहीं किया जाता हैं?

  • दातों का इलाज, कॉस्मेटिक उपचार, HIV एड्स, मोटापे, ओर बाझपन का इलाज आदि कवर नहीं किया जाता हैं।
  • शराब या नशीली दवाइयों के सेवन के कारण हुए नुकसान या चोट के लिए कवरेज नहीं प्रदान किया जाता है।
  • खुद को नुकसान पहुंचाने के कारण लगी चोटों को कवर नहीं किया जाता है।
  • जन्मजात या जन्म से होने वाली बीमारियों को कवरेज नहीं प्रदान किया जाता हैं।
  • खतरनाक खेलों में भाग लेने के दौरान लगी चोटों को कवर नहीं किया जाता है।
  • कानून का उल्लंघन या आपराधिक गतिविधियों के कारण हुए नुकसान को कवर नहीं किया जाता है।
  • युद्ध, आक्रमण, या परमाणु खतरों कारण लगी चोट या बीमारी को कवर नहीं किया जाता है।

व्यक्तिगत स्वास्थ्य बीमा की विशेषताएं और लाभ (Features and benefits of individual health insurance)

मेडिकल खर्च के लिए कवरेज

स्वास्थ्य बीमा आपको मेडिकल खर्च से सुरक्षित रखता है। यदि आप भी किसी बीमारी या स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहे हो तो यह आपको आर्थिक संकट से बचाता है। यह आपके मेडिकल खर्च के बोझ को कम करता है। जिससे आप अपने स्वास्थ्य पर ध्यान केंद्रित कर सकते हो।

हॉस्पिटल में भर्ती होने पर मिलने वाला दैनिक भत्ता

कई बीमा कंपनियां बीमाधारक को हॉस्पिटल में भर्ती होने के बाद बिताए प्रत्येक दिन के आधार पर एक निर्धारित भत्ता देती है। यह भत्ता बीमाधारक को तब मिलता है, जब बीमाधारक कई दिनों से हॉस्पिटल में भर्ती होता है। इन भर्ती दिनों की संख्या बीमा में पहले से निर्धारित होती है। अलग अलग बीमा कंपनियों की दिन की संख्या अलग अलग हो सकती हैं।

ऐड ऑन कवर

आप अपनी बीमा पॉलिसी के साथ अपनी सुरक्षा बढ़ाने के लिए वेकल्पिक ऐड ऑन खरीद सकते है।

एकल कवरेज

यह बीमा यह सुनिश्चित करता है की, बीमाधारक ही बीमा राशि का उपयोग कर सकता हैं।

एक से अधिक दावे

आप एक साल में कई दावे कर सकते हैं, जब तक की बीमा राशि समाप्त नहीं हो जाती है।

टैक्स में लाभ या छूट

यह आयकर अधिनियम की धारा 80D के आपके द्वारा भुगतान की गई प्रीमियम पर टैक्स में बचत करने में मदद करता है।

बीमित राशि

यह अलग अलग बीमा कंपनियों की पॉलिसी के अनुसार अधिकतम एक करोड़ की बीमा राशि तक होती है।

व्यक्तिगत स्वास्थ्य बीमा खरीदते समय किन किन बातों का ध्यान रखें?

व्यक्तिगत स्वास्थ्य बीमा खरीदते समय आपको कई बातों का ध्यान रखना चाहिए। आइए विस्तार से जानते है की हमे व्यक्तिगत स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी लेते समय किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?

1. पॉलिसी का खर्च

व्यक्तिगत स्वास्थ्य बीमा खरीदते समय ध्यान रखे की आपको पॉलिसी किफायती प्रीमियम पर उपलब्ध हो। ऐसी इंश्योरेंस पॉलिसी का चुनाव करें जो आपके बजट में हो। ज्यादा कवरेज प्राप्त करने के लिए महंगी बीमा पॉलिसी नहीं खरीदनी चाहिए। इससे आपका वित्तीय बोझ बढ़ सकता हैं।

2. अपने स्वास्थ्य का विश्लेषण करें

व्यक्तिगत स्वास्थ्य बीमा खरीदने से पहले आपको अपने स्वास्थ्य का विश्लेषण जरूर करना चाहिए। उसके बाद आप उस स्वास्थ्य बीमा के तहत क्या चाहते हैं, उसकी लाभ और कवरेज की लिस्ट बनाए। साथ ही सही बीमा चुने और अपनी कवरेज राशि का अनुमान लगाए।

3. बीमा की sub limits की जांच करें

ज्यादातर स्वास्थ्य बीमा कुछ निश्चित कवर के लिए एक Sub limits के साथ आती है। सही बीमा योजना को चुनने से पहले आपको कई कवर के साथ आने वाली sub limits की जांच करनी चाहिए।

4. नेटवर्क हॉस्पिटल की जांच करें

आपको अपने लिए स्वास्थ्य बीमा का चयन या खरीदते समय बीमा कंपनी के नेटवर्क हॉस्पिटल की जांच जरूर करनी चाहिए। ध्यान रखें नेटवर्क हॉस्पिटल आपके घर या ऑफिस के पास हो। यदि ऐसा नहीं है तो किसी अन्य बीमा कंपनी से योजना को खरीदें।

5. दावा प्रक्रिया या दावा निपटान की प्रक्रिया की जांच करें

खुद के लिए व्यक्तिगत स्वास्थ्य बीमा खरीदते समय आपको बीमा कंपनी के दावे की प्रक्रिया तथा दावा निपटान की प्रक्रिया की जांच जरूर करनी चाहिए। ध्यान रखे की दावा प्रक्रिया और दावा निपटान की प्रक्रिया आसान हो। साथ ही यह भी ध्यान रखें कि बीमा कंपनी दावा निपटान की प्रक्रिया में कितना समय लेती है। लंबी दावा प्रक्रिया की योजना का चुनाव ना करें।

शेयर करें:

1 thought on “व्यक्तिगत स्वास्थ्य बीमा क्या है? | what is individual health insurance in hindi”

Leave a Comment